O Machalti Arzoo… Salil da

usnekahatha_collage_chitralekhan_sept2012

Vivacious, filled with youthful joy, refreshing, with an element of awaiting to live life to its fullest. Joie de vivre… just enjoy this song, its exuberance and actress Nanda, bubbling, day-dreaming, in Usne Kaha Tha (1961)… a black and white film.

ओ ओ ओ ~

मचलती आरज़ू
खड़ी बाँहें पसारे ~ ओ
ओ मेरे साजना रे
धड़कता दिल पुकारे
आ ~  जा

ओ ओ ओ ~

मचलती आरज़ू
खड़ी बाँहें पसारे ~ ओ
ओ मेरे साजना रे
धड़कता दिल पुकारे
आ ~  जा

मेरा आँचल पकड़ के कह रहा है मेरा दिल
मेरा आँचल पकड़ के कह रहा है मेरा दिल
ज़माने की निगाहों से यहां छुप छुप के मिल
यहीं तन्हाई में दिल की कली जाएगी खिल
ओ हो ओ

ओ ओ ओ ~

मचलती आरज़ू
खड़ी बाँहें पसारे ~ ओ
ओ मेरे साजना रे
धड़कता दिल पुकारे
आ ~  जा

मिलन के मदभरे चंचल ख़यालों में मगन

मिलन के मदभरे चंचल ख़यालों में मगन
मैं तो तकती हूँ तेरी राहों ओ मेरे साजन
बहारों के लिए हो मुंतज़िर जैसे चमन
हो ओ
मचलती आरज़ू
खड़ी बाँहें पसारे
ओ मेरे साजना रे
धड़कता दिल पुकारे
आ ~  जा

हो ओ
मचलती आरज़ू
खड़ी बाँहें पसारे ए
ओ मेरे साजना रे
धड़कता दिल पुकारे
आ ~  जा

 

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s